News

infantry museum : देश का पहला सेना संग्रहालय आज से खुला

infantry museum

देश का पहला और दुनिया का दूसरा इन्फेंट्री पैदल सेना म्यूजियम infantry museum महू में तैयार किया गया है जो 16 दिसंबर शुक्रवार यानी आज से आम जनता के लिए विधिवत रूप से खोला दिया गया है

डॉ आम्बेडकर नगर महू में बना infantry museum : देश का पहला सेना संग्रहालय है जो आज से खोल दिया गया है.

 infantry museum: संग्रहालय का विवरण

महू शहर के माल रोड पर सेना द्वारा इन्फेंट्री रिसर्च सेंटर और म्यूजियम infantry museum तैयार किया गया है जहां इन्फेंट्री के 1747 से लेकर 2020 तक के गौरवशाली इतिहास, शौर्य व बलिदान को थ्रीडी प्रिंटर से तैयार स्टेच्यू, म्यूरल्स व तस्वीरों के जरिये दिखाया गया है.

यह भी पढ़िए – MP Yuva Internship Yojana || मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना ऑनलाइन फॉर्म, अंतिम तिथि, आवेदन की पूरी जानकारी

इन्फेंट्री म्यूजियम infantry museum के उद्घाटन के मौके पर लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) देवराज अंबू, पीवीएसएम, यूवाईएसएम, एवीएसएम, वाईएसएम, एसएम और सेना के आला अधिकारी और उनके परिजन भी मौजूद रहे जिन्होंने इस मौके पर सम्मानित दिग्गजों, नागरिक, गणमान्य व्यक्तियों और महू के सभी सेवारत अधिकारियों का स्वागत किया।

infantry museum के शुभारम्भ के मौके पर लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) देवराज अंबू ने कहा कि संग्रहालय को इन्फेंट्री स्कूल के तत्वावधान में थीम लाइन के साथ इन्फेंट्री को प्रदर्शित करने के इरादे से स्थापित किया गया है।

यह भी पढ़िए – Zika virus : सावधान . . . घातक जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक

infantry museum: कब रखी गई नींव?

“इन्फेंट्री: द अल्टीमेट” परियोजना infantry museum की कल्पना जुलाई 2003 में एक राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण हॉल सह अनुसंधान केंद्र के रूप में की गई थी।

infantry museum में आपको 1747 से 2020 तक के इन्फेंट्री के इतिहास की समृद्ध विरासत, हमारे गौरवशाली अतीत की झलक और मूर्तियों, भित्ति चित्रों और फोटो गैलरी में संरक्षित हमारे बहादुर सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान की झलक देखने को मिलेगी.

यह भी पढ़िए – Post Office Group C 2022: पोस्ट ऑफिस के तकनीकी पदों के लिए तुरंत करें आवेदन

infantry museum: का क्षेत्रफल

infantry museum  महू के माल रोड पर लगभग दो एकड़ क्षेत्रफल में फैला है जो तीन मंजिला इन्फेंट्री रिसर्च सेंटर और म्यूजियम के रूप में विकसित किया गया है हालांकि अभी ग्राउंड फ्लोर को ही सिर्फ आम जनता के लिए खोला गया है।

infantry museum: 17 दिसंबर से ऑनलाइन बुकिंग

16 दिसंबर को सेना के आला अधिकारीयों द्वारा विधिवत उद्घाटन के बाद 17 दिसंबर से ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से आम लोग इस infantry museum म्यूजियम को देखने के लिए आ सकेंगे।

यह भी पढ़िए – donkey in gift:  दुल्‍हन को दुल्हे ने दिया गधा, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

infantry museum: म्यूजियम में क्या है ख़ास?

infantry museum: म्यूजियम में प्रवेश करते ही भारतीय सेना में फील्ड मार्शल के पद पर रहे केएस करिअप्पा और सेम मानेकशॉ का 630 किलो वजनी ब्रॉन्ज स्टेच्यू लगाया गया है। यहां आने वाले लोगों की नजर सबसे पहले इन्हें ही देखेगी।

इसके बाद infantry museum म्यूजियम के ग्राउंड फ्लोर पर ओेरिएंटेशन रूम बनाया गया है जहां आम जनता बैटल ऑफ प्लासी 1757, बैटल ऑफ सारागढ़ी 1897, बैटल ऑफ बक्सर, भारत-पाक युद्ध 1965 और 1971 के साथ ही शिवाजी, सुभाषचंद्र बोस, महाराजा रणजीत आदि के बारे में जानकारी मिल सकेगी।

यह भी पढ़िए – UPI daily limit : बदल गया नियम, यूपीआई से इतना कर सकेंगे पेमेंट   

साथ ही इस infantry museum: म्यूजियम में 1757 से लेकर इन्फेंट्री की वेशभूषा में किए गए विभिन्न बदलावों को भी लाइव तस्वीरों के माध्यम से देख सकेंगे। ओेरिएंटेशन रूम में दी गई सभी जानकारी को अलग-अलग कमरों में म्यूरल्स, स्टेच्यू व तस्वीरों के माध्यम से दिखाया गया है।

infantry museum: सोमवार को रहेगा बंद

यह इन्फेंट्री रिसर्च सेंटर और infantry museum म्यूजियम सप्ताह में छह दिन खुला रहेगा और सोमवार को बंद रहेगा। सप्ताह के छह दिन दो शिफ्ट में सुबह 11:00 से दोपहर 2:00 बजे तथा दोपहर 2:30 SE शाम 5:30 बजे तक जा दर्शक यहां आ सकेंगे।

इन्फेंट्री म्यूजियम में आने के लिए आम जनता www.infantrymuseummhow.com पर जाकर ऑनलाइन टिकट बुक करा सकती है, जिसका प्रति व्यक्ति शुल्क 50 रुपये है। 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए यह निःशुल्क रहेगा।

यह भी पढ़िए – makeup artist : मेकअप बिगड़ा, तो दुल्हन पहुंची थाने, जानें क्या है पूरा मामला ?

infantry museum: कैसे पहुंचे?

infantry museum: तक जाने के लिए आपको मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर तक पहुंचना होगा जहाँ पहुँचने के लिए रेल, बस और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की सुविधा उपलब्ध है जहाँ से आप सडक रेल मार्ग से डॉ आम्बेडकर नगर(महू) पहुँच सकते हैं वहीँ सडक मार्ग से से आप इंदौर रेलवे स्टेशन से 27 किमी का सफर कर infantry museum म्यूजियम तक पहुँच सकते हैं.   

जुड़िये News Merchants Team से – देश विदेश, प्रदेश, बॉलीवुड,धर्म, जॉब्स, योजनाएं,अलग हटके, तकनीक आदि कृषि सम्बंधित जानकारियों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsAppWhatsApp2  के ग्रुप ज्वाइन करें हमारे को Facebook पेज को like करें-शेयर करें।

राहुल कुमार शर्मा

में राहुल कुमार शर्मा News Merchants.com हिंदी ब्लॉग का को-फाउंडर हूँ तथा जिला स्तरीय अधिमान्य पत्रकार होने के साथ सामाजिक और धार्मिक खबरों की रिपोर्टिंग करता हूँ देश प्रदेश की योजनाओं और और सम सामायिक विषयों की जानकारी के लिए आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं। हमारा उद्देश्य है कि आपको News Merchants.com के माध्यम से अच्छी सटीक और नई जानकारियाँ मिल सकें।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker