प्रदेश

USHA DIDI : के तीखे बोल कहा – “गरबा पांडाल लव जिहाद के माध्यम”

भोपाल. मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (USHA DIDI) ने लव जेहाद और गरबा पंडाल को लेकर विवादित बयान दिया है. इस बार उन्होने गरबा पंडाल को लव जेहाद फैलने का माध्यम बताया है. (USHA DIDI) इससे पहले भी मदरसों में आंतकवादी तैयार किए जाने के बयान पर काफी ट्रोल हो चुकी हैं

श्राद्ध पक्ष खत्म होने के बाद दस दिंनों तक माता के गरबों की धूम पुरे देश में सुनाई देंगी लेकिन मध्यप्रदेश सरकार की एक मंत्री महोदया उषा ठाकुर (USHA DIDI) के बोल गरबा पंडालों के लिए फिर से प्रदेश में गूंजने लगे हैं |

यह भी पढ़िए – ganesh visarjan : गणेश विसर्जन की पौराणिक कथा और विसर्जन की विधि

गरबा पंडाल लव जेहाद का माध्यम

गणेश विसर्जन के साथ ही श्राद्ध पक्ष शुरू होने वाला है और जल्द ही नौ दिवसीय नवरात्र की तैयारियां भी शुरु होने जा रही हैं लेकिन उसके ठीक पहले मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (USHA DIDI) ने गरबा पंडाल को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिसने प्रदेश सरकार के कान खड़े कर दिए हैं उषा ठाकुर ने अपने बयान में कहा कि गरबा पंडाल लव जेहाद का माध्यम बनते रहे हैं, लिहाजा अब जरुरी है कि इन पंडालों में आईडेंटी कार्ड के जरिए ही नौजवान युवक युवतियों को एंट्री दी जाए |

यह भी पढ़िए – Anganwadi Supervisor Vacancy 2022: मध्यप्रदेश में निकली बम्पर भर्तियाँ, महिलाओं को मिलेगा मौका

हिंदुवादी संगठन भी एक्शन में

गरबा पंडालों पर संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (USHA DIDI) के बयान से हिंदुवादी संगठन भी एक्शन में आ गए हैं. वे एक कदम और आगे बढ़ा चुके हैं. इधर उषा ठाकुर का बयान आया और उधर हिंदू संगठनों ने आइडेंटिटी कार्ड के साथ गरबे में प्रवेश की निर्देशिका तैयार करने में जुट गए. कुछ संगठनों  ने मांग की है कि ‘गरबा पंडाल के बाहर आईडी कार्ड तो देखे ही जाएं साथ ही गरबा पंडालों में आने वालों कों पंचगव्य यानि गाय का गोबर, गौ मूत्र, गाय का दूध, दही, घी का भी पान कराया जाए  इसके बाद ही उन्हें पंडाल में प्रवेश करने दिए जाए.

यह भी पढ़िए – SBI Vacancy 2022: एसबीआई ने निकली 714 पदों की भर्ती, जानिए पूरी प्रोसेस और आवेदन की अंतिम तिथि

उषा ठाकुर (USHA DIDI) पूर्व में भी दे चुकी हैं विवादित बयान

 ऐसा पहली बार नहीं है कि गरबा पंडालों के लेकर ही उषा ठाकुर ने कोई विवादित बयान दिया हो. उनके ऐसे बयानों की फेहरिस्त काफी लंबी है. साल 2020 में उपचुनाव के दौरान मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों को लेकर भी विवादित बयान दिया था. उन्होने कहा था धार्मिक शिक्षा कट्टरता बढ़ाती है और मदरसों में आतंकवादी पनपते हैं. मत्री उषा ठाकुर(USHA DIDI) ने भी कहा था कि राष्ट्रहित में ये जरुरी है कि ये मदरसे बंद होना चाहिए.

यह भी पढ़िए – DEO Jobs MP 2022 : एम पी के इस जिले में निकली डाटा एंट्री ऑपरेटर की पोस्ट, जल्द करें एप्लाय

इसके पहले कोरोना संक्रमण के समय भी मंत्री उषा ठाकुर (USHA DIDI) का बयान सुर्खियों में रहा था. इस दौरान उन्होने कहा था कि तीन दिन तक नियमित रुप से हवन करें और आहूतियां डालें. जिससे पर्यावरण शुध्द होगा और किसी तरह की बीमारी नहीं आएगी. इसके बाद उषा ठाकुर ने टंट्या मामा के ताबीज़ को कोरोना का इलाज बता दिया था.

जुड़िये News Merchants Team से – देश, दुनिया, प्रदेश, खुलासा, बॉलीवुड, लाइफ स्टाइल, अलग हटके, धर्म, शेयर बाज़ार, सरकारी योजनाओं आदि कृषि सम्बंधित जानकारियों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsApp के ग्रुप ज्वाइन करें हमारे को Facebook पेज को like करें-शेयर करें।

राहुल कुमार शर्मा

में राहुल कुमार शर्मा News Merchants.com हिंदी ब्लॉग का को-फाउंडर हूँ तथा जिला स्तरीय अधिमान्य पत्रकार होने के साथ सामाजिक और धार्मिक खबरों की रिपोर्टिंग करता हूँ देश प्रदेश की योजनाओं और और सम सामायिक विषयों की जानकारी के लिए आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं। हमारा उद्देश्य है कि आपको News Merchants.com के माध्यम से अच्छी सटीक और नई जानकारियाँ मिल सकें।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker