देश-विदेश

Zika virus : सावधान . . . घातक जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक

Zika virus

कोरोना वायरस के बाद अब देश में जीका वायरस Zika virus ने भी दस्तक दे दी है। कर्नाटक में इसका पहला मामला सामने आया है।

कर्नाटक में पांच साल की बच्ची में जीका वायरस Zika virus संक्रमण की पुष्टि हुई है।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने जानकारी देते हुए बताया कि पांच साल की बच्ची के जीका वायरस Zika virus  से संक्रमित होने के बाद एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी गई है।

यह भी पढ़िए – MP Yuva Internship Yojana || मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना ऑनलाइन फॉर्म, अंतिम तिथि, आवेदन की पूरी जानकारी

आपको बता दें कि कर्नाटक में Zika virus का यह पहला मामला सामने आया है और सरकार स्थिति की सावधानीपूर्वक निगरानी कर रही है। इस वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है।

Zika virus की जानकारी

जिका वायरस Zika virus विषाणु फ्लाविविरिडए(Flaviviridae) विषाणु परिवार से है। जो दिन के समय सक्रिय रहते हैं। इन्सानों में यह मामूली बीमारी के रूप में जाना जाता है, जिसे जिका बुखार, जिका या जिका बीमारी Zika virus कहते हैं।

Zika virus विश्व में कब से सक्रिय

दरअसल Zika virus जीका वायरस बीमारी का 1947  के दशक में पता चला। यह Zika virus अफ्रीका से एशिया तक फैला हुआ है। यह 2014 में प्रशांत महासागर से फ्रेंच पॉलीनेशिया तक और उसके बाद 2015 में यह मेक्सिको, मध्य अमेरिका तक भी पहुँच गया और अब भारत में भी इसने पांव पसारना शुरू कर दिए हैं.

यह भी पढ़िए – donkey in gift:  दुल्‍हन को दुल्हे ने दिया गधा, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

Zika virus का कैसे चला पता?

वर्ष 1947 में पीले बुखार का शोध कर रहे पूर्वी अफ्रीकी विषाणु अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों को जिका के जंगल में रीसस मकाक (एक प्रकार का लंगूर) को पिंजरे में रख कर अपना शोध कर रहे थे। उस बंदर को बुखार हो जाता है। 1952 में  रीसस मकाक के शरीर में पाए गए संक्रामक घटक को जिका विषाणु Zika virus नाम से जाना गया। यह इसके बाद नाइजीरिया में वर्ष 1954 में यह वायरस एक मानव के शरीर में पाया गया.

यह भी पढ़िए – UPI daily limit : बदल गया नियम, यूपीआई से इतना कर सकेंगे पेमेंट   

धीरे धीरे यह वायरस 1954 से लेकर 2015 tk पुरे मेक्सिको, मध्य अमेरिका तक पहुँच गया इसके 2007 में खोज होने से पहले इससे संक्रमण के मामले अफ्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया में बहुत कम थे। अप्रैल 2007 में इसका प्रभाव पहली बार अफ्रीका और एशिया के बाहर देखने को मिला।

Zika virus के लक्षण

जिका बुखार, जिसे जिका वायरस Zika virus रोग, के नाम से भी जाना जाता है, यह एक रुग्णता है जो जिका वायरस के कारण उत्पन्न होती है. जिसके लक्षण डेंगू बुखार की ही तरह होते हैं अधिकांश मामलों (60 – 80 %) में कोई लक्षण नहीं दिखते यदि कुछ लक्षण दिखते हैं तो वे लक्षण अमूमन इस प्रकार के हो सकते हैं जैसे बुखार, लाल आँखें, जोड़ों में दर्द, सिरदर्द, लाल चकत्ते।

आम तौर पर Zika virus के लक्षण हल्के और 7 दिनों से भी कम रहते हैं वर्ष 2015 में इस आरंभिक संक्रमण से कोई मृत्यु नहीं हुई है जिसके बाद इस संक्रमण को ग़ीयान-बारे संलक्षण सिंड्रोम से लिंक किया गया है.

यह भी पढ़िए – KVS: केन्द्रीय विद्यालय में बम्पर 13404 पदों की भर्ती, जल्द करें आवेदन

Zika virus कैसे फैलता है?

जिका बुखार Zika virus मुख्यतः एडीज मच्छर के काटने से फैलता है शारीरिक संबंध बनाने और खून चढ़ाने से भी इसके फैलने की संभावना रहती है. यह रोग गर्भवती माँ से गर्भस्थ शिशु में जा सकता है यही नहीं यह इतना घातक है कि वर्टिकली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन और शिशु के सिर के अपूर्ण विकास की वजह बन सकता है

Zika virus की कैसे हो पहचान

इस रोग Zika virus की पहचान के लिए होने वाली जाँचों में रक्त, मूत्र, वीर्य या लार संबंधी परीक्षण शामिल हैं, जो बीमार व्यक्ति में इस वायरस के आरएनए के होने का पता लगाने के लिए की जाती हैं

यह भी पढ़िए – makeup artist : मेकअप बिगड़ा, तो दुल्हन पहुंची थाने, जानें क्या है पूरा मामला ?

Zika virus के मुख्य तथ्य

01. जीका वायरस Zika virus रोग मुख्य रूप से एडीज मच्छरों द्वारा प्रसारित एक वायरस के कारण होता है, जो दिन के दौरान काटता है।

02. Zika virus के लक्षण आम तौर पर हल्के होते हैं और इसमें बुखार, दाने, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, अस्वस्थता या सिरदर्द शामिल होते हैं। लक्षण आमतौर पर 2-7 दिनों तक रहते हैं। जीका वायरस संक्रमण वाले अधिकांश लोग लक्षण विकसित नहीं करते हैं।

03.गर्भावस्था के दौरान जीका वायरस Zika virus का संक्रमण शिशुओं को जन्मजात जीका सिंड्रोम के रूप में जाने वाले माइक्रोसेफली और अन्य जन्मजात विकृतियों के साथ पैदा कर सकता है।

04. जीका वायरस Zika virus के साथ संक्रमण भी गर्भावस्था की अन्य जटिलताओं के साथ जुड़ा हुआ है, जिसमें प्रीटरम जन्म और गर्भपात शामिल हैं।

05. न्यूरोलॉजिकल जटिलताओं का एक बढ़ा जोखिम वयस्कों और बच्चों में जीका वायरस Zika virus के संक्रमण से जुड़ा हुआ है, जिसमें गुइलेन-बैरे सिंड्रोम, न्यूरोपैथी और मायलाइटिस शामिल हैं।

Zika virus  के संकेत और लक्षण

ज़ीका वायरस Zika virus रोग के ऊष्मायन अवधि (लक्षणों के संपर्क से समय) 3-14 दिनों का अनुमान है। जीका वायरस से संक्रमित अधिकांश लोग लक्षण विकसित नहीं करते हैं। लक्षण आमतौर पर बुखार, दाने, मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द, अस्वस्थता और सिरदर्द सहित हल्के होते हैं, और आमतौर पर 2-7 दिनों तक रहते हैं।

यह भी पढ़िए – Book Jihad : एक दिन की साजिश नहीं लगती किताबी जिहाद

Zika virus से कैसे पाएं निदान

जीका वायरस Zika virus  के संक्रमण के साथ या जीका वायरस ट्रांसमिशन या एडीस मच्छर वैक्टर के साथ अथवा उसके आसपास रहने वाले व्यक्तियों के लक्षणों के आधार पर संदेह हो सकता है। जीका वायरस Zika virus  संक्रमण का निदान केवल रक्त या शरीर के अन्य तरल पदार्थों जैसे कि मूत्र या वीर्य के प्रयोगशाला परीक्षणों द्वारा पुष्टि की जा सकती है।

Zika virus का इलाज

जीका वायरस Zika virus के संक्रमण या इससे जुड़े रोगों के लिए कोई उपचार उपलब्ध नहीं है। जीका वायरस के संक्रमण के लक्षण आमतौर पर हल्के होते हैं। बुखार, दाने या गठिया जैसे लक्षणों से पीड़ित लोगों को भरपूर आराम करना चाहिए, तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए और आम दवाओं के साथ दर्द और बुखार का इलाज करना चाहिए। यदि लक्षण बिगड़ते हैं, तो उन्हें चिकित्सा देखभाल और सलाह लेनी चाहिए।

जीका Zika virus ट्रांसमिशन वाले क्षेत्रों में रहने वाली गर्भवती महिलाओं या जो जीका वायरस संक्रमण के लक्षण विकसित करते हैं, उन्हें प्रयोगशाला परीक्षण और अन्य नैदानिक ​​देखभाल के लिए चिकित्सा ध्यान देना चाहिए।

जुड़िये News Merchants Team से – देश विदेश, प्रदेश, बॉलीवुड,धर्म, जॉब्स, योजनाएं,अलग हटके, तकनीक आदि कृषि सम्बंधित जानकारियों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsAppWhatsApp2  के ग्रुप ज्वाइन करें हमारे को Facebook पेज को like करें-शेयर करें।

राहुल कुमार शर्मा

में राहुल कुमार शर्मा News Merchants.com हिंदी ब्लॉग का को-फाउंडर हूँ तथा जिला स्तरीय अधिमान्य पत्रकार होने के साथ सामाजिक और धार्मिक खबरों की रिपोर्टिंग करता हूँ देश प्रदेश की योजनाओं और और सम सामायिक विषयों की जानकारी के लिए आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं। हमारा उद्देश्य है कि आपको News Merchants.com के माध्यम से अच्छी सटीक और नई जानकारियाँ मिल सकें।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker